शेअर मार्केट में निवेश कैसे करें Share Market Investment

4.5/5 - (2 votes)

आजकल प्रत्येक व्यक्ति को पैसे की आवश्यकता पड़ती है और अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए वह या तो लॉटरी या dream11 या शेयर मार्केट में पैसे इन्वेस्टमेंट करता है या तो बिटकॉइन में इन्वेस्ट में करता है जैसे हमें भौतिक वस्तुओं के लिए गोदान और कोल्ड हाउस की आवश्यकता होती है ।उसी प्रकार जहां से शेयर की खरीद-फरोख्त होती है। उसके लिए एक मार्केट की भी आवश्यकता होती है ।अब आपके मन में प्रश्न उठ रहा होगा कि आखिर कार शेयर मार्केट क्या है? आदि प्रश्नों का जवाब इस लेख में दिया जाएगा। आपने ध्यान दिया होगा कि जब से कोरोनावायरस दुनिया में आया हड़कंप मचा हुआ है। तब से हर व्यक्ति वर्क फ्रॉम होम ऑनलाइन जॉब के लिए प्रयास करना शुरू कर दिया है। क्योंकि आजकल हर व्यक्ति को त्वरित धन चाहिए। इस धन की इच्छा की पूर्ति करना है तो उसके लिए आपको जुआ खेलना पड़ेगा  इस जुआं को खेलने के लिए आपके पास अच्छा खासा अमाउंट होना चाहिए ।क्योंकि इस जुए में रिस्क बहुत होता है। क्योंकि कई बार ऐसा होता है कई विशेषज्ञ शेयर मार्केट की गिरावट को समझ नहीं पाते हैं ।जिसके परिणाम स्वरूप उनको लॉस हो जाता है। आप सब ने कुछ समय पहले यह देखा होगा कि फेसबुक की स्वामित्व वाली कंपनी मेटा का शेयर का भाव गिर कर बहुत नगण्य हो गया ।जिसके परिणाम स्वरुप मार्क जुकरबर्ग को हजारों अरबों रुपए की राशि का लॉस अल्पकाल के लिए है क्योंकि इसकी भरपाई फिर से हो जाएगी। क्योंकि मार्क ज़ुकेरबर्ग एक बड़े और दीर्घकालिक इन्वेस्टर हैं ना कि कोई अल्प कालिक इन्वेस्टर है। इसलिए शेयर मार्केट में आप इन्वेस्ट करने जा रहे हैं तब आपको इन्वेस्ट करने से पहले आपको शेयर मार्केट की की बारीकी से जांच कर लेनी चाहिए क्योंकि यदि सावधानी हटी दुर्घटना घटी वाली बात हो जाएगी ।इसलिए यदि आप शेयर मार्केट के विषय में जानना चाहते हैं तो सबसे पहले आपके मन में प्रश्न उठ रहा होगा शेयर क्या होता है चलिए आइए जानते है?

लेख के मुख्य बिंदु

शेयर क्या होता है(what is share)

पूंजी के छोटे-छोटे भाग को शेयर कहते हैं अर्थात  किसी इंस्टिट्यूट में ₹100 का शेयर जारी किया गया और किसी व्यक्ति ने  रुपए की पूंजी में से ₹10 की शेयर किसी अन्य व्यक्ति ने खरीद लिया ।किसी अन्य व्यक्ति ने 10 शेयर खरीदे ऐसे करके 10 व्यक्ति ₹100 के शेयर खरीद लिए।

शेयर होल्डर क्या होता है ?(what is share holder)

जो व्यक्ति शेयर खरीदता है वह शेयर होल्डर कहलाता है। किसी कंपनी का अर्थात व्यक्ति ने यदि किसी इंस्टिट्यूट में ₹10 का शेयर खरीदा तो वह उस कंपनी का 10 परसेंट हिस्सेदार बन गया अर्थात शेरहोल्डर बन गया।

शेयर कितने प्रकार होता है(kinds of share)

शेयर कितने प्रकार का होता है।

(1)इक्विटी शेयर (equity share)

जब कोई कंपनी स्टॉक एक्सचेंज अर्थात बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड होती है और तब अपना शेयर जारी करती है तो इस प्रकार के शेयर जारी करने की प्रक्रिया को इक्विटी शेयर कहते हैं।

(2)प्रीफेरेन्स शेयर (Preference share)

प्रीफेरेन्स शेयर इक्विटी शेयर तरह ही होता है। लेकिन आप इसमें मतदान नहीं कर सकते हैं अर्थात प्रीफेरेन्स शेयर में कोई खतरा नहीं होता है इसका मूल्यांकन साल के अंतिम महीने में होता है। और सबसे बढ़कर इसकी विशेषता यह है कि इसमें शेरहोल्डर को मत देने का अधिकार नहीं होता है  क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि जो शेयर होल्डर होते हैं कंपनी में अपना वीटो पावर रखते हैं। लेकिन प्रीफेरेन्स शेयर धारक पास वीटो पावर नहीं होता है अर्थात वह शक्तिविहीन होते हैं।

(3)डीएवी शेयर (DAV share)

डीएवी शेयर में इक्विटी शेयर और प्रीफेरेन्स शेयर दोनों के गुण पाए जाते हैं। इसमें शेरहोल्डर को वोट देने का राइट नहीं होता है |

शेयर मार्केट क्या होता है(what is share market)

जिस मार्केट में शेयर की खरीद-फरोख्त होती है। उसे शेयर मार्केट कहते हैं अर्थात एक ऐसा बाजार जहां पर शेयर को खरीदने के लिए अनुकूल माहौल उपलब्ध कराया जाए। उसे ही शेयर मार्केट कहते हैं। आपने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का नाम अवश्य सुना होगा। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में 50 कंपनी लिस्टेड है और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में 30 कंपनी रजिस्टर है ।बीएसई और एनएसई शेयर में इन्वेस्टमेंट करने के लिए अनुकूल एटमॉस्फेयर प्रोवाइड कराती है। जिसके माध्यम से कोई भी इन्वेस्टर शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कर सकता है ।और ट्रेडिंग भी आसानी से कर सकता है ।क्योंकि शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कंप्यूटर के माध्यम से होता है। और उसके लिए बारीकी से जांच के लिए ब्रोकर की आवश्यकता पड़ती है ।यह सब की पूर्ति के लिए एक शेयर मार्केट की आवश्यकता होती है जिस प्रकार हमें अपने सब्जियों को बेचने खरीदने के लिए एक विपणन केंद्र की आवश्यकता होती है। इसी प्रकार हमें शेयर की खरीद-फरोख्त करने के लिए एक शेयर की बाजार की हो सकता होती है ।जिसे हम आसानी से बिना बिचौलियों के माध्यम से शेयर को खरीद सकते हैं।

शेयर मार्केट कितने प्रकार का होता है (what kinds of share market)

शेयर मार्केट दो प्रकार का होता है

(1)प्राइमरी शेयर मार्केट क्या है ?

जब शेयर मार्केट में आईपीओ के माध्यम से शेयर को यीशु किया जाता है उसे प्राइमरी शेयर मार्केट कैसे हैं अर्थात जब कोई स्टार्टअप या कंपनी मार्केट से पैसा उठाना चाहती है उसके लिए वह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज या नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में रजिस्टर होती है रजिस्टर होने के बाद मार्केट मैं अपनी कंपनी के शेयर को बेचने के लिए रखती है उसके बाद जब कोई व्यक्ति शेयर को खरीद करके एक चेंज करता है इससे निकलने के बाद जब उसकी ट्रेडिंग होती है तब प्रायमरी शेयर मार्केट कहलाता हैं।

(2) सेकंडरी शेयर मार्केट क्या है ?

जब प्राइमरी शेयर मार्केट में शेयर इश्यू होने के बाद ट्रेडिंग होने के लिए शेयर अवेलेबल हो जाता है। तब उसे सेकेंडरी शेयर मार्केट कहते हैं। इस मार्केट में शेयर की खरीद-फरोख्त होती है अर्थात कोई भी व्यक्ति डिमैट अकाउंट बनाकर इस सेकेंडरी मार्केट से शेयर को खरीद भी सकता है और बेच भी सकता है इसे ही शेयर ट्रेडिंग कहते हैं।

शेयर मार्केट कैसे काम करता है (how work share market)

शेयर मार्केट डिमांड एंड सप्लाई के रूल्स पर काम करता है अर्थात मान लीजिए दो व्यक्तियों ने किसी कंपनी का शेयर खरीदा ।जैसे एक व्यक्ति ने रिलायंस का शेयर खरीदा और दूसरे व्यक्ति ने कोटक महिंद्रा बैंक का शेयर को खरीदा पहले व्यक्ति ने रिलायंस के शेयर में ₹500 का इन्वेस्टमेंट किया और दूसरे व्यक्ति ने कोटक महिंद्रा बैंक के शेयर में ₹1000 इन्वेस्टमेंट किया अब कुछ ऐसी परिस्थितियां उत्पन्न हुई जैसे कि कोई डिजास्टर आ गया या कोई बीमारी आ गई या कोई महामारी आ गई और उस समय रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर गिरकर ₹500 मूल्य से ₹450 हो गया और कोटक महिंद्रा बैंक के शेयर में उत्तरोत्तर वृद्धि होकर ₹1000 से ₹ 1200 रुपए हो गया ।अब पहले व्यक्ति शेयर को नहीं बेचेगा क्योंकि वह शेयर को बेचता है तो उसे ₹50 की हानि होती है और दूसरा व्यक्ति शेयर को बेच देगा क्योंकि उसको बेचने के बाद ₹200 का प्रॉफिट हो रहा है तो इसी प्रकार शेयर मार्केट का कोई निश्चित भाव निर्धारित नहीं रहता है कि आज आपने इस भाव पर शेयर खरीदा है तो कल आप इसी भाव पर शेयर बेच भी सकते हैं इसका भाव उतरता चढ़ता रहता है ।उतरने चढ़ने के भाव सेंसेक्स और निफ्टी पर निर्भर करता है ।सेंसेक्स बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का है और निफ्टी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का है।

शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट कैसे करे (how to investment in share market)

(1) यदि आप शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आप छोटी रकम से शुरुआत करिए अर्थात आप में म्यूच्यूअल फण्ड में सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान के तहत ₹100 ₹200 ₹300 की राशि को निर्धारित करके दिन प्रतिदिन इन्वेस्टमेंट करिए और धीरे-धीरे जब आप को गहराई से से शेयर मार्केट का ज्ञान होने लगे। तब आप इस अमाउंट को बढ़ा सकते हैं। भविष्य में क्योंकि आप यदि प्रारंभ में शेयर मार्केट में ज्यादा राशि इन्वेस्टमेंट करते हैं तब आपको यदि लॉस होगा तो आपको दोबारा भविष्य में इन्वेस्टमेंट करने के लिए कोई अमाउंट बचेगा ही नहीं।

(2) शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं उसके लिए आप टॉप कंपनियों को चुने जैसे कि आप टाटा विप्रो और रिलायंस इंडस्ट्रीज और साथ ही साथ बाईजू और अनअकैडमी में आप इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं। क्योंकि यह एक ऐसा सेक्टर है जिसमें किसी भी महामारी के समय इसके कंपनी में कोई ह्रास नहीं आएगा अर्थात इसके मूल्य में कोई गिरावट नहीं आएगी ।यह दिन प्रति दिन बढ़ता रहेगा। क्योंकि एजुकेशन सबकी नीड होती है चाहे लाक डाउन भी लग जाए तब भी लोग अपने बच्चों को पढ़ाएंगे ।इसलिए आप आंख बन्दकर करके निवेश कर सकते हैं।।

(3) यदि आप शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट कर रहे हैं तब इसके गिरावट से आपको घबराने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि शेयर मार्केट में दिन पर दिन उतार चढ़ाव होता रहता है। इस उतार-चढ़ाव से यदि आप घबरा आएंगे तब आप के दीर्घकालिक हित के लिए यह अनुकूल नहीं रहेगा।

शेयर मार्केट से शेयर पर्चेज खरीदने का प्रोसेज क्या है ?(how to purchase a share from share market)

(a) फिर खरीदने के लिए सबसे पहले आप डिमैट अकाउंट बनाइए डिमैट अकाउंट बनाने के लिए आपके पास रजिस्टर मोबाइल नंबर का आधार कार्ड होना चाहिए और साथ ही साथ पैन कार्ड होना चाहिए और ईमेल आईडी होना चाहिए।

(b) डिमैट अकाउंट ओपन करने के बाद आपको शेयर का नंबर दर्ज करना है अर्थात आप कितना शेयर खरीदना चाहते हैं जैसे कि आप किसी कंपनी का 5 परसेंट शेयर खरीदना चाहते हैं या 10 परसेंट करना चाहते हैं या 20% शेयर करना चाहते हैं आपको उसको दर्ज करना पड़ेगा।

(c) उसके बाद नॉर्मल या सीएनसी के विकल्प का चयन करना है फिर उसके बाद मार्केट या लिमिट विकल्प का ऑप्शन सेट कर सकते हैं उसके बाद आप शेयर का प्राइस जितना है उसको क्लिक करके इंटर का बटन प्रेस करें।

शेयर खरीदने के एक आदर्श नियम क्या है ?(model rules for buying a share)

सबसे पहले डिमैट अकाउंट को ओपन करें उसके बाद ट्रेडिंग अकाउंट क्रिएट करें। डिमैट अकाउंट को क्रिएट करने के बाद आपको 22 परसेंट मार्जिन मनी को ऐड करना होगा उसके बाद आपको एक हार्ड पासवर्ड सेट करना होगा क्योंकि ह्टपासवड इसलिए सेट करना है जिससे कोई भी व्यक्ति आपके डिमैट अकाउंट में सेंध ना लगा सके।

वर्ल्ड के टॉप मोस्ट शेयर मार्केट कौन – कौन से है ?(world’s top most share market)

(1) इस सूची में सबसे नंबर वन शेयर मार्केट संयुक्त राज्य अमेरिका का निर्माण किस स्टॉक एक्सचेंज शेयर मार्केट है जहां पर शेयर को खरीदा जा सकता है और बेचा भी जा सकता है।

(2) बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज भी एक पुराना स्टॉक एक्सचेंज है क्योंकि या स्टॉक एक्सचेंज अंग्रेजों के समय से ही प्रचलन में है आप इसमें आंख बंद करके इसमें लिस्टेड कंपनियों शेयर की ट्रेडिंग कर सकते हैं।

(3) नेशनल स्टॉक एक्सचेंज या एक सरकारी स्टॉक एक्सचेंज है इसमें नवरत्न कंपनी और मिनी नवरत्न कंपनी रजिस्टर है।।

(4) टोक्यो स्टॉक एक्सचेंज जापान का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज मार्केट है जंहा से शेयर को सेल और परचेस किया जाता है।

(5) लंदन स्टॉक एक्सचेंज इंग्लैंड का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है ऐसा कहा जाता है कि यदि इसके स्टॉक मार्केट में शेयर में उतार-चढ़ाव आता है तो पूरे वर्ल्ड में भी शेयर के भाव गिरने और चढ़ने लगते हैं।

(6) चीन का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज शंघाई स्टॉक एक्सचेंज है।

FAQS Share Market

Q:- शेयर क्या है ?

Ans:- पूंजी के छोटे-छोटे भाग को शेयर कहते हैं।

Q:- शेयर मार्केट क्या है ?

Ans:- जिस मार्केट मैं शेयर को खरीदा और बेचा जाता है उसे शेयर मार्केट कहते हैं जैसे बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज भारत का प्रचलित स्टॉक एक्सचेंज है।

Q:- शेयर मार्केट को रेगुलर कौन करता है ?

Ans:- शेयर मार्केट को रेगुलेट स्टॉक एक्सचेंज बोर्ड आफ इंडिया करता है अर्थात सेबी करता है। सेबी भारत सरकार के अंतर्गत काम करता है। यह एक नियामक संस्था है अर्थात यह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज  से संबंधित जितने भी नियम है उन्हें नियमों में संशोधन भी करती है और कोई भी समस्या है उसका निदान भी करती है।

Q:- शेयर मार्केट के लाभ क्या है ?

Ans:- शेयर मार्केट का सबसे बड़ा लाभ दिया है कि यह एक अनुकूल वातावरण उपलब्ध कराता है ।जो शेयर ट्रेडिंग करना चाहते हैं क्योंकि कई बार ऐसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है कि शेयर ट्रेडिंग करते समय तेजड़ियों और मंदड़ियों की स्थिति उत्पन्न हो जाती है तो उस समय रेगुलेट करने के लिए शेयर मार्केट को सेबी की आवश्यकता पड़ती है।

Q:- शेयर मार्केट के हानि क्या है?

Ans:- इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसमें वित्तीय जोखिम शामिल रहता है।

 

1 thought on “शेअर मार्केट में निवेश कैसे करें Share Market Investment”

Leave a Comment

error: Content is protected !!