Post Matric Scholarships Scheme for minorities (अल्पसंख्यको के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति योजना)

5/5 - (1 vote)

शिक्षा किसी भी देश के विकास में एक महत्वपूर्ण कड़ी के रूप में कार्य करती है। शिक्षा के अभाव में कोई भी इंसान आर्थिक और सामाजिक तरक्की नही कर सकता है यही कारण है कि अब के जमाने में शिक्षा पर खासा जोर दिया जाता है और लोगों को पढ़ाई करने के लिए जागरूक भी बनाया जाता है एक समय था जब हमारे देश में बच्चों की पढ़ाई को लेकर लोग जागरूक नही थे इसलिये भारत की छवि भी उसी प्रकार दिखती थी परन्तु अब ऐसा बिल्कुल भी नही है आज हमारा देश किसी भी मामले में दूसरे देशों से पीछे नही है।  यहाँ तक कि जो लोग आर्थिक रूप से इतने समर्थ नही है कि अपनी पढ़ाई को शुरू कर सकें या जारी रख सके , ऐसे लोगों के लिए भी हमारे देश मे कई अलग अलग तरह की योजनाओं का शुभारंभ किया गया है ताकि देश के हर वर्ग को अच्छी और उच्च शिक्षा मिल सके। इन्हीं योजनाओं में से एक है Post Matric Scholarships Scheme for Minorities  ,  जिसके अंतर्गत सरकार जरूरतमंद विद्यार्थियों को पढ़ाई के लिए आर्थिक मदद के उद्देश्य से छात्रवृत्ति प्रदान करती है ताकि पैसों की तंगी की वजह से किसी भी विद्यार्थी की पढ़ाई अधूरी रह जाए। यह योजना अल्पसंख्यक छात्रों के लिए शुरू की गई है। पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के द्वारा  11 वीं से लेकर आगे की उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले अल्पसंख्यक विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति की सुविधा प्रदान की जाती है। अतः आज हम आपको इसी योजना से जुड़ी कई जानकारियों जैसे Post Matric Scholarships Scheme for minorities योजना क्या है, अल्पसंख्यकों के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना की योग्यता क्या है, Post Matric Scholarships Scheme for Minorities योजना के लिए किन किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ती है, Post Matric Scholarship for Minorities के लाभ क्या है , इस योजना के लिए आप ऑनलाइन आवेदन कैसे कर सकते है और इस योजना के लिस्ट में अपना नाम कैसे देखें आदि के बारे में बताने वाले है।

लेख के मुख्य बिंदु

अल्पसंख्यकों के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना क्या है (What is post matric Scholarship Scheme For Minorities)

यह भारत सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ माइनॉरिटीज अफेयर्स ( MOMA)  द्वारा संचालित छात्रवृत्ति योजना है।  मोमा स्कॉलरशिप योजना को साल 2006  में भारत सरकार के द्वारा शुरू किया गया था। इस योजना का उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर अल्पसंख्यक विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा प्रदान करवाना है भारत सरकार के द्वारा अल्पसंख्यक के रूप में मुस्लिम, सिख, ईसाई , बौद्ध, जैन और पारसी समुदाय को अधिसूचित किया गया है इस योजना का लाभ  अल्पसंख्यक विद्यार्थियों को ही प्राप्त होगा जो 11वीं  या इससे आगे की उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे है। इसके साथ ही साथ आवेदन करने वाले विद्यार्थियों के द्वारा दी गई अंतिम परीक्षा में उनके 50 % या उससे ज्यादा अंक आये हो।  सरकार का उद्देश्य इस योजना के माध्यम से 11 वीं से लेकर उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे माइनॉरिटीज विद्यार्थियों को हर वर्ष 10000 हजार रुपये की छात्रवृति प्रदान करना है ताकि अल्पसंख्यक मेधावी छात्र भी उच्च शिक्षा प्राप्त कर जीवन में आगे बढ़ सकें।

POST MATRIC SCHOLARSHIP SCHEME FOR  MINORITIES
देश भारत
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी
मंत्रालय शिक्षा मंत्रालय
स्थिति सक्रिय
वेबसाइट http://www.scholarship.gov.in/ 

 

अल्पसंख्यको के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति योजना की योग्यता (Eligibility For Post Matric Scholarship Scheme For Minorities)

अगर आप भी  अल्पसंख्यको के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति योजना के माध्यम से अपने बच्चों को उच्च शिक्षा दिलवाना चाहते है तो पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्किम फ़ॉर माइनॉरिटीज  की पात्रता / योग्यता क्या है इसके बारे में अवश्य जान लें ताकि आगे चलकर इस योजना के लिए आवेदन  करने में आपको किसी भी प्रकार की मुश्किल हो

  • इस योजना का लाभ सिर्फ अल्पसंख्यक विद्यार्थियों को ही प्राप्त होगा
  • इस योजना के अंतर्गत एक परिवार के अधिकतम  2  छात्र को ही छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।
  • आवेदन करने वाला हमारे देश भारत का मूल निवासी होना चाहिए
  • आवेदन करने वाले विद्यार्थी की अंतिम परीक्षा में न्यूनतम 50 % या समकक्ष अंक आये हो। 
  • आवेदन करने वाले विद्यार्थी के परिवार की सालाना आय 2,00,000/- रु से अधिक नहीं होनी चाहिए
  • इस योजना के लिए आवेदन करने वाले विद्यार्थी का भारत सरकार द्वारा घोषित किये गए अल्पसंख्यक समुदाय का होना आवश्यक है
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन करने वाले विद्यार्थी के पास बीपीएल कार्ड का होना जरूरी होता है।
  • इस योजना के तहत आप तभी आवेदन कर सकते है अगर आपने इस साल कक्षा 11 वीं , 12 वीं , ग्रैजुएशन ,पोस्ट ग्रैजुएशन, तकनीकी या व्यावसायिक पाठ्यक्रमएम फिल या पी एच डी जैसे किसी भी कोर्स में प्रवेश लिया हो।
  • इस योजना के अनुसार 1 साल की अवधि से कम के किसी भी कोर्स को इसका फायदा नही मिलेगा। 
  • सर्टिफिकेट कोर्स को भी इस योजना में शामिल नही किया गया है।

अल्पसंख्यको के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज (Required Documents For Post Matric Scholarship Scheme For Minorities)

अगर आप भी अल्पसंख्यको के लिए पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना के लिए आवेदन करने के इच्छुक है तो यह जरूरी है कि आप आवेदन करने से पूर्व इसमें लगने वाले निम्नलिखित दस्तावेजों की सूची को ध्यान से देख ले

  • आवेदन करने वाले विद्यार्थी के पास आधार कार्ड का होना अति आवश्यक है
  • आवेदन करने वाले का किसी भी बैंक जो कि भारतीय हो, उसमें खाता होना अनिवार्य है
  • आवेदन करने वाले विद्यार्थी के पास पिछली कक्षा का मार्कशीट और सर्टिफिकेट का होना अनिवार्य है
  • आवेदन करने वाले अगर  विशेष समुदाय से आते है तो ऐसी स्थिति में ओबीसी / एससी / एसटी जाती प्रमाण पत्र का होना आवश्यक है
  • बोनाफाइड सर्टिफिकेट का होना आवश्यक है।
  • इसके अलावा आवेदन करने वाले छात्र के पास कॉलेज प्रवेश शुल्क की रशीद का होना भी जरूरी है।
  • आय प्रमाण पत्र का होना अनिवार्य है।
  • छात्र के अभिभावकों का सेल्फ डिक्लेरेशन

अल्पसंख्यको के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति योजना के लाभ (Benefits Of Post Matric Scholarship Scheme For Minorities)

अगर आप भी Moma scholarship  योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आगे अब हम आपको बताने वाले है कि इस योजना की मुख्य विशेषताएं क्या है

  • इस योजना के तहत अल्पसंख्यक मेधावी छात्रों को आर्थिक सुविधा प्रदान की जाती है ताकि वे बिना चिंता के उच्च शिक्षा प्राप्त कर सके।
  • मोमा छात्रवृति योजना के तहत 11वीं कक्षा से लेकर पी एच डी कर रहे विद्यार्थियों को सालाना 10,000 रुपयों तक की छात्रवृति प्रदान की जाती है
  • इस स्कॉलरशिप योजना के अंतर्गत औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों / औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्रों में अन्य तकनीकी और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों को भी रखा गया है। 
  • Moma स्कॉलरशिप योजना एडमिशन से लेकर कोर्स / ट्यूशन फीस और मेंटेनेन्स भत्ता के लिये भी आर्थिक मदद प्रदान करती है।
  • पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्किम फ़ॉर माइनॉरिटीज  योजना का लाभ एक परिवार के दो विद्यार्थी एक साथ उठा सकते है
  • इस योजना में कक्षा  11 वीं एवं 12 वीं में आईटीआई और पॉलिटेक्निक  जैसी तकनीकी और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों को भी शामिल किया गया है। 

 

  • इस योजना के नियमों के अनुसार छात्रवृत्ति की राशि का निर्धारण अलग अलग कक्षाओं के हिसाब से किया गया है। कक्षा 11वीं से लेकर 12वीं तक के सामान्य  छात्रों को 7 हजार रूपये, कक्षा 11वीं और 12 वीं के टेक्निकल और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के विद्यार्थियों को 10 हजार रुपये और स्नातक और परास्नातक के विद्यार्थियों को 3 हजार रुपये की सालाना छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।

अल्पसंख्यको के लिए पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना ऑनलाइन आवेदन (Online Application For Post Matric Scholarship Scheme For Minorities)

अगर आप भी अल्पसंख्यक पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपको बता दें कि मोमा स्कॉलरशिप योजना का आवेदन वर्ष में एक बार ही कर सकते है इस जानकारी को आप AICTE  के आधिकारिक वेबसाइट या नेशनल न्यूज़ पेपर के विज्ञापनों के द्वारा भी प्राप्त कर सकते है सामान्यतः हर वर्ष सितंबर से अक्टूबर के महीने में इस योजना के लिए आप आवेदन फॉर्म को भर सकते है सूचना प्राप्त होने के बाद आप पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्किम फ़ॉर माइनॉरिटीज के लिये आवेदन कर सकते है तो चलिए अब जान लेते है कि इस योजना के लिए आप ऑनलाइन आवेदन कैसे कर सकते है

  • इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने हेतु सबसे पहले आपको NSP  की आधिकारिक वेबसाइट https://scholarships.gov.in/ पर जाना होता है  
  • यहाँ आपको सबसे पहले पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा करना होता है जिसके लिए सबसे पहले आपको रेजिस्ट्रेशन करना होता है। इसके लिए आप NSP की वेबसाइट पर NEW REGISTRATION के विकल्प का चयन कर लें।
  • इसके बाद आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म आएगा इस फॉर्म को भरने के लिए आपको कुछ दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है जिसके बारे में नीचे हम आपको बताने जा रहे हैं अतः आप निम्नलिखित दस्तावेजों को अपने साथ रखे
  • आवेदनकर्ता अपनी शैक्षणिक दस्तावेज पास रखें
  • अपने बैंक खाते की जानकारी जिसमें खाता नंबर , आईएफएससी कोड आदि होनी चाहिए
  • आधार कार्ड नंबर / संस्थान द्वारा जारी बोनाफाइड सर्टिफिकेट भी होना चाहिए।
  • आपका आधार एनरोलमेंट आईडी / बैंक खाते की स्कैन कॉपी
  • अगर आवेदन करने वाला विद्यार्थी अपने स्थायी राज्य से बाहर किसी अन्य राज्य में कोर्स कर रहे है तो आपको संस्थान से बोनाफाइड लेना जरूरी होता है
  • आपकी ईमेल आईडी
  • आपका मोबाइल नंबर
  • पंजीकरण करने के बाद छात्रों को NSP के पोर्टल में लॉगिन करना होता है इसके बाद आप अपनी स्कॉलरशिप योजना का चयन कर लें अब इसके बाद वहाँ पूछी गयी जानकारी को दर्ज करना होता है सारी जानकारियों को अच्छे से दर्ज करने के बाद आपको उससे सम्बंधित दस्तावेजों को भी अपलोड करना होता है दस्तावेजों को अपलोड करते समय इस बात की जाँच जरूर कर लें कि वो  स्पष्ट रूप से दृश्य  हो तभी जाकर उसे सबमिट करके अपने आवेदन को पूरा कर लें
  • आवेदन सबमिट करने के बाद आपके आवेदन की जाँच की जाएगी और पुरी तरह से इसके सही होने पर ही आपका चयन स्कॉलरशिप के लिए किया जाएगा।

अल्पसंख्यको के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति योजना 2022 की लिस्ट (Post matric Scholarship Scheme For Minorities List 2022)

अगर आपने भी Moma स्कॉलरशिप योजना के लिये आवेदन किया है और आप यह जानना चाहते है कि आपका नाम इस छात्रवृति योजना के लिए स्वीकृत हुआ है या नही तो आप नीचे दिए गये दिशा निर्देशों का पालन करके बड़ी ही आसानी से इसकी लिस्ट में अपना नाम देख सकते है

  • यह जानकारी प्राप्त करने के लिए आप NSP की आधिकारिक वेबसाइट https://scholarships.gov.in/ पर जा सकते है यहाँ आप योजना के अनुसार स्वीकृत छात्रवृति लिस्ट ( Scheme Wise Scholarship Sanctioned List ) के विकल्प में जाकर नीचे पूछी गयी जानकारियों को देकर यहाँ अपना नाम देख सकते है या आप सीधे इस लिंक पर क्लिक करके भी इस जानकारी को प्राप्त कर सकते है – https://scholarships.gov.in/fresh/onlineSanctionedList/ 
  • यहाँ सबसे पहले आपको जिस वर्ष की लिस्ट में अपना नाम देखना है उसे चुन लें
  • इसके बाद अपने आवेदन का प्रकार नएरिन्यूवल का चयन कर लें
  • अगले भाग में आप Ministry की सूची में All India Council Of Technical Education का चयन कर ले
  • इसके बाद Scheme की सूची में Post Matric Scholarship Scheme For Minorities  जिसमे अपने आवेदन किया है उस विकल्प को चुन लें
  • इसके बाद आप राज्य / जिला / अपना नाम और योजना में पंजीकृत मोबाइल नंबर दर्ज करके अपने नाम को इस योजना की लिस्ट में देख सकते है

FAQS

प्रश्नअल्पसंख्यको के लिए पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना के पैसे कैसे आते है ?

उत्तरइस  छात्रवृति योजना की राशि विद्यार्थियों के द्वारा छात्रवृति के आवेदन के समय दी गयी बैंक खाते में डीबीटी यानी डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर  के माध्यम से आती है

प्रश्न – यदि कोई छात्र पहले से ही किसी सरकारी छात्रवृत्ति योजना का लाभ उठा रहा है तो क्या उसे अल्पसंख्यको कर लिए पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना का लाभ मिलेगा?

उत्तरनहीं पहले से किसी सरकारी योजना का लाभ उठा रहे छात्रों को इस योजना का लाभ नही मिलेगा। 

प्रश्न – Moma छात्रवृति योजना में रखरखाव का भत्ता कितने वर्षों तक दिया जाता है ?

उत्तरइस योजना के तहत रखरखाव भत्ता एक शैक्षणिक वर्ष में केवल 10 महीने के लिए ही दिया जाता है।

प्रश्न –  इस योजना के अंतर्गत सरकार कितने साल तक की अवधि के लिए छात्रवृत्ति प्रदान करती है?

उत्तरइस योजना के अंतर्गत सरकार सम्पूर्ण पाठ्यक्रम केप अवधि के लिए छात्रवृत्ति प्रदान करती है।

प्रश्न – अगर कोई विद्यार्थी किसी वर्ष परीक्षा में पास नहीं होता है तो ऐसी स्थिति में उसकी छात्रवृति अगले साल उसे मिलेंगी या नहीं ?

उत्तरजी नहीं अगर कोई छात्र अपने कोर्स के दौरान किसी वर्ष परीक्षा में पास नहीं होता है तो उसे आने वाले वर्षों में छात्रवृति की राशि प्रदान नही की जाएगी।

प्रश्न – इस योजना के तहत कितनी फीसदी धन राशि छात्राओं के लिए आरक्षित रखी गई है ? 

उत्तरइस योजना के तहत छात्रवृत्ति की 30 %  धन राशि छात्राओं के लिए आरक्षित रखी गई है।

प्रश्न – अपल्पसंख्यक पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना के लिए Help Line नंबर और Email ID कौन सी है ?

उत्तरविद्यार्थियों की सहायता या शिकायत के लिए सरकार ने मोमा स्कॉलरशिप हेल्पलाइन नंबर 0120 – 29581118 और ईमेल आईडी [email protected] gov. in जारी की है

Leave a Comment

error: Content is protected !!