पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड ऑनलाइन आवेदन | PM Modi Health ID Card Form | One Nation One Health Card | आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन | Ayushman Bharat Digial Health ID Card Registration

5/5 - (2 votes)

गलत जीवन पद्धति अपनाने के कारण प्रत्येक व्यक्ति का स्वास्थ्य खराब रहता है ।इसका कारण है ,गलत खानपान जैसे कि मद्यपान का सेवन और गुटखे का सेवन और साथ ही साथ जंक फूड का सेवन जिसके परिणाम स्वरूप हमारा शरीर निष्क्रिय हो जाता है। और हम अल्प आयु में ही बड़े रोग के शिकार हो जाते हैं ।और उपचार होने में समय लग जाता है। साथ ही साथ उपचार के लिए बड़ी गंभीर समस्या उत्पन्न हो जाती है क्योंकि हर व्यक्ति  हॉस्पिटल की फीस को अफोर्ड नहीं कर सकता है। इसके लिए आयुष्मान भारत योजना भारत के नागरिकों के लिए जो मध्यमवर्गीय परिवार से संबंधित हैं उनके लिए  किसी वरदान से कम नहीं है। और समस्या तब उत्पन्न होती है। जब हम सीटी स्कैन अल्ट्रासाऊंड, एक्सरे ,सीबीसी, आदि की जांच कराते हैं। उसकी हार्ड कॉपी लेकर हॉस्पिटल का चक्कर लगाते रहते हैं। लेकिन  सरकार ने इस समस्या की निजात के लिए वन नेशन वन हेल्थ कार्ड योजना की पेशकश की है। इसके माध्यम से प्रत्येक व्यक्ति एक कार्ड दिखाकर अपनी पूरी डाटा को डॉक्टर को दिखा सकता है। अब आपके मन में प्रश्न उठ रहा होगा कि आखिर वन नेशन वन हेल्थ कार्ड योजना क्या है? जिसे पीएम मोदी हेल्थ कार्ड योजना कहा जाता है ?और साथ ही साथ इस योजना को एग्जीक्यूट कौन कर रहा है। और एग्जीक्यूट करने में कौन कौन सी संस्था भाग ले रही है। और साथ ही साथ वन नेशन वन हेल्थ कार्ड के लिए कौन कौन सा डॉक्यूमेंट लगेगा ।और साथ ही साथ वन नेशन वन हेल्थ कार्ड के लिए अप्लाई कैसे करें? इसका प्रोसेस क्या है ?आदि जानकारी आपको सा विस्तार से इस  आर्टीकल में दी जाएगी ।बस आपसे विनम्र पूर्वक आग्रह करता हूं। आप  आर्टीकल के किसी भी पार्ट को  स्किप  ना करें। यदि एक भी पार्ट को  स्किप करेंगे ।तब आपको अधूरी जानकारी प्राप्त होगी। जिसके परिणाम स्वरूप आपको समस्या उत्पन्न होने लगेगी। इसलिए आपसे विनम्र निवेदन है कि इस आर्टिकल को लाइन टू लाइन पढ़े। जिससे आपको कोई समस्या ना हो और पीएम मोदी हेल्थ कार्ड प्लान के बारे में आपको विस्तृत जानकारी मिल जाए।

लेख के मुख्य बिंदु

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड क्या है(What is PM Modi Health Id Card)

वन नेशन वन हेल्थ कार्ड को पीएम मोदी हेल्थ कार्ड भी कहा जाता है? इसका कारण है इस योजना को भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी ने लांच किया था इन्हीं के नाम पर इस योजना का नाम पड़ा है। पीएम मोदी हेल्थ कार्ड एक 14 अंकों वाला हेल्थ आईडी होगी। जिसमें मरीजों का पूरा डाटा निहित होगा। जैसे कि उसका जन्म उसका एड्रेस उसको बीमारी कौन कौन सी हुई है ?आदि जानकारी उसमें  सविस्तार से वर्णित रहेगी। यह हेल्थ आईडी सुभेद्य है अर्थात इस आईडी को कोई भी व्यक्ति हैक नहीं कर सकता है। क्योंकि केंद्र सरकार इसको रेगलेट करेगा। यह 14 अंकों वाला हेल्थ आईडी  कार्ड गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले व्यक्ति और गरीबी ऊपर से ऊपर रहने वाले व्यक्ति अर्थात बीपीएल कार्ड धारक और बीपीएल कार्ड धारक के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि उनके पास डॉक्यूमेंट मिस हो जाता है। जिसके परिणाम स्वरुप उनकी जांच में विलंब होता है ।और कईयों केस में ऐसा होता है कि कुछ मरीजों की मृत्यु हो जाती है। इसलिए श्री नरेंद्र मोदी दास जी ने इस चीज को बारीकी से समझा ।और वन नेशन वन हेल्थ कार्ड की संकल्पना को प्रस्तुत किया। यानी कि एक नागरिक की एक हेल्थ कार्ड रहेगा। जिसमें उसकी प्रेजेंट पास्ट की बीमारियों का वर्णन रहेगा। जिसको देखकर क्लीनिक और डिस्पेंसरी और साथ ही साथ हॉस्पिटल वाले एक पल में भी उसका चेकअप कर सकते हैं ।और बता सकते हैं कि उसको कौन सी बीमारी हुई है?

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड की आवश्यकता क्यों पड़ी (Why PM Modi Health Card was needed)

(1) पीएम मोदी हेल्थ कार्ड की आवश्यकता इसलिए पड़ी की। क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि कई डॉक्यूमेंट घर पर छूट जाने के कारण जांच नहीं हो पाती है। और रोगी की मृत्यु हो जाती है अर्थात जैसे किसी रोगी ने सीबीसी करवाया और रोगी हॉस्पिटल में जाते समय अपनी सीबीसी रिपोर्ट भूल जाता है ।और डॉक्टर उसकी सीवीसी रिपोर्ट को नहीं देख पाता है। मरीज परेशान होकर फिर से घर आता है ।और रिपोर्ट लेकर जाता है तब डॉक्टर को दिखा पाता है ।इसमें यह समस्या उत्पन्न हुई कि मरीज का समय ज्यादा लग गया और साथ ही साथ वाहनों से यातायात का पैसा भी ज्यादा लग गया। और ऊपर से मानसिक रूप से परेशान हुआ। उसकी बात ही छोड़िए इस विलंब के कारण कई बार रोगी की मृत्यु हो जाती है जैसे रोगी गंभीर बीमारी से पीड़ित हो जैसे उसको कैंसर और साथ ही साथ लीवर सिरोसिस आदि बीमारी हुई हो ।इसी सब के मद्देनजर केंद्र सरकार को एहसास हुआ कि क्यों ना ऐसा करे की हर व्यक्ति की एक हेल्थ आईडी बना दिया जाए जिसमें उस व्यक्ति की पास्ट, प्रजेंट के सारे रिपोर्ट रहे। और मरीज हॉस्पिटल में जाकर उस कार्ड को डॉक्टर को दिखा दे ।डॉक्टर मरीज के हेल्थ  आईडी को एक्सेस करके उसके सारी रिपोर्ट को देखकर और मूल्यांकन करके उसका इलाज करना शुरू कर सकता है ।इससे रोगी को ढेरों फाइलों से बचत होगी अर्थात रिपोर्टों से क्योंकि रिपोर्ट उसकी अब सॉफ्ट कॉपी में एक 14 अंकों वाली यूनिक आईडी में निहित रहेगी।

(2) पीएम मोदी हेल्थ कार्ड की आवश्यकता इसलिए पड़ी क्योंकि रोगी का कोई रिपोर्ट मिस हो जाने के कारण रोगी अपना इलाज कराने में असक्षम हो जाता था इसी सब के मद्देनजर हेल्थ कार्ड की आवश्यकता पड़ी।

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड का उद्देश्य क्या है (What is the purpose of PM Modi Health Card)

(1) भारत के  प्रत्येक नागरिक की एक हेल्थ कार्ड आईडी बनाना। जिसमें उसके स्वास्थ्य से रिलेटेड सारी रिपोर्ट हो। जिससे वह भविष्य में कहीं भी किसी भी राज्य में हो वह अपनी इस आईडी की मदद से इलाज करा सके। बिना किसी समस्या के।

(2) पीएम मोदी हेल्थ कार्ड का उद्देश्य है कि भारत में रहने वाला प्रत्येक व्यक्ति चाहे वह उत्तर भारत का हो चाहे मध्य भारत का हो। चाहे पूर्वोत्तर भारत का हो। और चाहे पश्चिमी भारत का हो। चाहे दक्षिण भारत का हो उनकी जांच के डॉक्यूमेंट को पेपर लेस बनाना।

(3) पीएम मोदी हेल्थ कार्ड का उद्देश्य भी है कि कोई भी  भारत का नागरिक किसी रिपोर्ट की अनुपस्थिति के कारण अपनी जांच कराने से वंचित ना हो अर्थात सॉफ्ट कॉपी की मदद से डॉक्टर के सामने अपने सारी रिपोर्ट को प्रस्तुत करना।

(4) पीएम मोदी हेल्थ कार्ड का उद्देश्या यह भी  है कि भविष्य में यदि कोई कोविड-19 जैसी महामारी आती है उसे आसानी से निपटा जा जा सके। क्योंकि यदि प्रत्येक व्यक्ति की हेल्थ आईडी  तो रहेगी  सरकार  उसको मानिटरिंग करती रहेगी। इससे  सरकार को पता चलता रहेगा कि हमारे देश के नागरिकों का  स्वास्थ्य कैसा है? उनका इम्यून  सिस्टम कैसा है? और साथ ही साथ उनका बॉडी मास इंडेक्स कितना है।

(5) पीएम मोदी हेल्थ कार्ड का उद्देश्या यह भी  है कि डॉक्टर अपने जवाबदेही को तय कर सके अर्थात कई डॉक्टर यह बहाना बनाते हैं कि मेरे पास कोई मरीज आता ही नहीं है यदि आता भी है। तो उसका पुराना रिपोर्ट नहीं रहता है। तो मैं कैसे इलाज कर सकता हूं । आईडी कार्ड डॉक्टर के कार्यों में पारदर्शिता और साथ ही साथ जवाबदेहिता  को तय करेगा।

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड की विशेषता क्या है (What is the feature of PM Modi Health Card)

(1) इस कार्ड की विशेषता यह है कि इस कार्ड के लाभार्थी भारत के सभी नागरिक होंगे क्योंकि 27 सितंबर 2021 को इस कार्ड का विस्तार पूरे भारत में कर दिया गया इससे पहले हेल्थ कार्ड योजना सिर्फ 6 केंद्र शासित प्रदेशों में लागू था। जिसमें अंडमान निकोबार साथ ही साथ चंडीगढ़, लद्दाख और लक्षदीप पुडुचेरी और दादर नगर हवेली और दमन दीव में शुरुआत हुई थी 2020 में।

(2) पीएम मोदी हेल्थ कार्ड में किसी मरीज की अतीत से लेकर वर्तमान तक जितनी भी जांच हुई है जैसे कि सीबीसी ,एक्सरे ,अल्ट्रासाउंड और हीमोग्लोबिन टेस्ट विटामिन टेस्ट और साथ ही साथ मरीज को कौन सी दवा दी गई है। और कौन सी दवा दी जा रही है ।और किस डॉक्टर के नेतृत्व में यह दवा दी गई है ।और कौन से हॉस्पिटल में है। दवा लिखी गई है कि डॉक्टर के निर्देश पर आदि जानकारी इसमें वर्णित रहेगी ।

(3) पीएम मोदी हेल्थ कार्ड की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि  यह समय को बचाएगा अर्थात कोई भी व्यक्ति बिना किसी झंझट के यातायात के नियमों का उल्लंघन करेगा। इसका कारण है कि कई दफा ऐसा होता है कि मरीज चिंतित अवसाद ग्रस्त में होकर रेड लाइट न होने के कारण भी ग्रीनलाइट होने पर भी सड़क क्रास करने लगता है और उस कारण उसकी मृत्यु होने की पॉसिबिलिटी रेट ज्यादा बढ़ जाती है ।क्योंकि ऐसा लगभग होता रहता है। इस अवसाद ग्रस्तता  के  पीछे का कारण है समय से इलाज ना मिल पाना क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि मरीज इलाज ना होने के कारण अवसाद ग्रस्त में अपना दम तोड़ देता है।

(4) पीएम मोदी हेल्थ कार्ड एक विशेषता यह  है  कि इसमें कम से कम डॉक्यूमेंट लगेगा ।डॉक्यूमेंट के तौर पर आपसे आधार कार्ड और पासबुक और साथ ही साथ राशन कार्ड और पासपोर्ट साइज फोटो और आपका मोबाइल नंबर लिया जाएगा।

(5) पीएम मोदी हेल्थ कार्ड की विशेषता यह है कि इससे पैसा भी खर्च कम होगा क्योंकि मरीज को वन स्टॉप सॉल्यूशन मिल जाएगा और वह आसानी से अपना जांच करा पाएगा।

पीएम मोदी health card के लिए apply कैसे करे (How to Apply for PMi Health Card)

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड के लिए अप्लाई करना बहुत ही सरल है ।क्योंकि आप यदि पीएम मोदी हेल्थ कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहते हैं। इसके लिए आप आरोग्य सेतु एप से भी अप्लाई कर सकते हैं। और साथ ही साथ आयुष्मान भारत की वेबसाइट से भी अप्लाई कर सकते हैं ।और प्रधानमंत्री जन रोगी की वेबसाइट से भी ऑनलाइन कर सकते हैं।

(1)पीएम मोदी हेल्थ कार्ड ऑनलाइन apply करने का process क्या है ?

  • (a) सबसे पहले  यदि  आपका स्मार्टफोन लॉक है उसे अनलॉक के करिये।
  • (b) स्मार्ट फोन को अनलॉक करने के बाद अपने मोबाइल फोन में इंटरनेट डाटा को ऑन करिए।
  • (c) इंटरनेट डाटा को ऑन करने के बाद आपको अपना गूगल क्रोम को ओपन करना है। ओपन करने के बाद उसके सर्च बाहर में आपको टाइप करना है ndms.gov.in
  • (d) उसके बाद नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन का पेज ओपन होगा। उस पेज पर क्लिक करना है ।क्लिक करने के बाद आप सीधे होम पेज में आ जाएंगे। होम पेज में आने के बाद आपको क्रिएट हेल्थ आईडी के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • (e) जैसे ही आप क्रिएट हेल्थ आईडी के ऑप्शन पर क्लिक करेंगे। वैसे ही एक ऑप्शन खुलेगा क्रिएट योर   हेल्थ आईडी नाउ
  • (f) बस आपको फिर क्रिएट योर हेल्थ आईडी कार्ड नाउ पर  क्लिक करना है। उसके बाद आपके सामने दो ऑप्शन आएंगे ।यदि आप हेल्थ आईडी आधार कार्ड से जनरेट करना चाहते हैं तो आधार कार्ड से जनरेट करिए। यदि आप मोबाइल नंबर से जनरेट करना चाहता हो तो मोबाइल नंबर से जनरेट करिए।
  • (g) मान लीजिए आधार कार्ड से हेल्थ आईडी जनरेट करना चाहते हैं उसके लिए आप  आधार कार्ड के ऑप्शन पर क्लिक करिए। जैसे ही आधार  के ऑप्शन ओपन होगा। उसमें आप अपना आधार कार्ड का नंबर पर फिलअप करिए 12 डिजिट वाला।
  • (h) आधार कार्ड नंबर फिलअप करने के बाद आपके मोबाइल फोन में ओटीपी आएगा ।ओटीपी  उसी नंबर पर आएगा जिससे आधार कार्ड नंबर लिंकिंग है।
  • (i)ओटीपी वाले  ऑप्शन में आपको ओटीपी को फिलअप कर देना है। फिलअप करने के बाद आपके सामने हेल्थ आई डी का फॉर्म ओपन होगा ।उस फॉर्म में आपको अपना नाम, डेट ऑफ बर्थ ,अपना पोस्टल कोड नंबर और साथ ही साथ डिस्ट्रिक्ट, स्टेट और आपके माता -पिता का नाम आदि जानकारी आपको उसमें फिल अप करना रहेगा ।और साथ ही साथ आपके  हेल्थ  से रिलेटेड कुछ सवाल पूछे जाएंगे ।आपको उसको भी फिलअप करना रहेगा। फिलअप करने के बाद आपको नेक्स्ट  के बटन पर क्लिक करना है।
  • (j) जैसे ही आप नेक्स्ट  के बटन पर क्लिक करते हैं। वैसे ही आपके सामने एक ऑप्शन आएगा रीड का अर्थात आपने जो जानकारी फिलअप कर  रखी है। उसको रिड करिए ।रीड  कितने के बाद सबमिट के बटन पर क्लिक करिए। सबमिट के बटन पर क्लिक करने के बाद आपकी हेल्थ आईडी कार्ड जनरेट हो जाएगी।

(2) offline तरीके से कैसे पीएम मोदी हेल्थ कार्ड के लिए apply करना है ?

इसके लिए आप किसी हॉस्पिटल या क्लीनिक या किसी डिस्पेंसरी में जाकर पीएम मोदी हेल्थ कार्ड का रजिस्ट्रेशन फॉर्म मांग सकते हैं। उसके बाद आपको उस फॉर्म  में जो  जानकारी मांगी जाए। उसे फिलअप कर देना है ।फिल अप करने के बाद आपको उस फार्म को पोस्ट ऑफिस में जाकर कोरियर कर देना है। उसके बाद आपके घर पर आपका हेल्थ आईडी कार्ड पोस्ट ऑफिस के माध्यम से आ जाएगा ।आप उसका यूज़ कर सकते हैं वह भी हार्ड कॉपी।

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड का stetus कैसे चेक करे (How to check PM  health card status)

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड का स्टेटस चेक करना बहुत ही आसान है इसके लिए आप मोबाइल फोन में इंटरनेट डाटा होना चाहिए और साथ ही साथ आपका मोबाइल फोन हैंग ना करता हो।

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड का status चेक करने का process क्या है ?

  • (a) सबसे पहले आपको अपने गूगल क्रोम ब्राउजर को ओपन करना है उसके बाद उसके सर्च बार में टाइप करना है -ndhm.gov.in
  • (b) अब आपके सामने नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन का पेज ओपन होगा ।आपको उस पेज पर क्लिक करना है ।क्लिक करने के बाद आप सीधे होम पेज में आ जाएंगे। होम पेज में आपको मीनू के साइड में लॉगइन का ऑप्शन दिखेगा। आपको लॉगइन के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है ।लॉगिन के ऑप्शन पर  क्लिक करने के बाद आपको अपनी हेल्थ  नंबर डालना पड़ेगा। फिर उसके बाद अपना रजिस्टर मोबाइल नंबर डालिए। और उसके बाद फिर आपका वर्चुअल फॉर्म में हेल्थ आईडी दिखने लगेगा।

पीएम मोदी हेल्थ id कार्ड के बेनिफिट क्या है (What are the benefits of PMi Health ID Card)

(1) पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड का सबसे बड़ा बेनिफिट या होगा कि जो व्यक्ति गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं उनको समय पर इलाज मिल जाएगा जिससे वह स्वस्थ हो जाएंगे।

(2) इस कार्ड के माध्यम से सरकार ब्यूरोक्रेसी की हिना से भी कर सकती है क्योंकि इससे सरकार जान पाएगी की अंतिम व्यक्ति इस कार्ड का यूज कर पा रहा है कि नहीं कर पा रहा है

(3) और एक बेनिफिट लिया होगा कि इससे मिल्क दर घटेगी क्योंकि सही समय पर उनका इलाज होने के परिणाम स्वरूप वह व्यक्ति स्वस्थ होकर घर लौट आएगा और एक खुशहालपुर जीवन जी सकता है।

(4) सबसे बड़ा बेनिफिट या है कि सरकार के बाद भारत के सभी नागरिकों का हेल्थ आईडी कार्ड होगा जिसके माध्यम से सरकार यह पता लगा लेगा कि निवासियों की इम्यून सिस्टम कितना स्ट्रांग है

(5) एक बेनिफिट और जाएगी सरकार इसके माध्यम से अपने डिजिटल इंडिया कार्यक्रम का मूल्यांकन कर सकेगी की और जान पाएगी की डेट इन इंडिया किस हद तक सफल हुआ है

(6) आयुष्मान भारत के लाभार्थी और साथ ही साथ अन्य लाभार्थी  को हेल्थ आईडी कार्ड का एक बड़ा लाभ यह मिलेगा की पूरा काम पेपर लेस हो जाएगा और इससे कार्बन डाइऑक्साइड का उत्सर्जन कम होगा और वनोन्मूलन भी कम होगा।

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड के loss क्या है (What are the disadvantages of PM Modi health card)

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड का सबसे बड़ा लाभ  यह  है कि यदि यह  डेटा हो गया केंद्र सरकार के पास से तो यह डेटा यदि गलत हाथों में पड़ गया तो इसका मिस यूज किया जा सकता है। जिसके परिणाम स्वरूप मल्टीनेशनल कंपनियां अपने दवाओं के प्रचार प्रसार के लिए कई ऐसे रोग फैला सकती हैं। जो भारतीयों को सबसे ज्यादा प्रभावित कर सकता है।इसके लिए  इस आईडी का देखरेख स्मार्ट तरीके से करना पड़ेगा।

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड से सम्बंधित other पार्ट है (There is another part related to PM to Modi health card)

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड को सपोर्ट देने के लिए अन्य भाग भी आवश्यक है

(1)हेल्थ आईडी सिस्टम

  • यह 14 अंकों वाला हेल्थ आईडी होगा जिसमें व्यक्ति के सारे बीमारी है उसे संबंधित जितने रिपोर्ट रहेंगे इस आईडी सिस्टम में जनरेट रहेंगे

 

(2)डीजी डॉक्टर

  • इसके अंतर्गत डॉक्टरों को एक यूनिक आईडी प्रोवाइड कराई जाएगी इसके माध्यम से डॉक्टर के पास सारा डाटा कलेक्ट रहेगा।

 

(3)हेल्थ फैसिलिटी रजिस्ट्री

  • इसके माध्यम से हॉस्पिटल और क्लीनिक साथी साथ लाइव को एक दूसरे से कनेक्ट किया जा सकेगा ।

 

(4)पर्सनल हेल्थ रिकॉर्ड

  • इस आदि के माध्यम से भारत के प्रत्येक नागरिक अपने हेल्थ को अपडेट कर सकेंगे और बता सकेंगे कि इस समय मैं स्वस्थ हूं और मुझे कोई बीमारी नहीं है।

FAQs PM Health Card Registration

Q:- पीएम मोदी health id  का हेल्पलाइन number क्या है?

Ans:- Pm मोदी हेल्थ कार्ड का helpline नंबर है 1800 144 77

Q:- पीएम मोदी हेल्थ कार्ड को डॉक्टर कैसे excess करेगा?

Ans:- पीएम मोदी हेल्थ कार्ड को डॉक्टर एक्सेस करने के लिए एक विशेष मशीन द्वारा उस कार्ड पर छापे बारकोड को स्कैन करेगा। स्कैन करने के परिणाम स्वरूप मरीज के मोबाइल में एक ओटीपी आएगी। उस ओटीपी को डॉक्टर को बताना होगा और डॉक्टर  उसके बाद आसानी से मरीज की सारे डेटा को देख सकता है।

Q:- पीएम मोदी हेल्थ कार्ड के लिए apply करने का वेबसाइट कौन सी है?

Ans:- पीएम मोदी हेल्थ कार्ड apply करने के लिए वेबसाइट है ndhm.gov.in

Q:- पीएम मोदी health id किसके लिए है ?

Ans:- पीएम मोदी हेल्थ कार्ड इंडियन  के सभी सिटीजन के लिए है।

Q:- पीएम मोदी हेल्थ कार्ड scheem संपूर्ण भारत में कब लागू की गई?

Ans:- पीएम मोदी हेल्थ कार्ड योजना 27 सितंबर 2021 को पूरे भारत में लागू की गई।

निष्कर्ष(conclusion)

पीएम मोदी हेल्थ कार्ड आईडी के लिए आवेदन कैसे करें से संबंधित आर्टीकल आपको पसंद आता है। तब आपसे विनम्र निवेदन है इस आर्टिकल को अपने फ्रेंड या रिलेटिव को शेयर करिए ।जिससे वह भी इस आर्टिकल का लाभ उठा सकें ।और भविष्य में मुझे भी ऐसे  और आर्टीकल  लाने के लिए प्रोत्साहन भी मिल सके।

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!