दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना (Deen Dayal upadhyay gram jyoti Yojana)

योजना को रेटिंग दें

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और भारत सरकार के द्वारा बहुत सारी लाभदायक  योजनाओं का आरंभ किया गया है हर एक योजना का अपना एक अलग ही महत्व है आम जनता अपने जीवन में कूछ मूलभूत सुविधा के लिए मुख्यतः सरकार पर ही निर्भर रहती है जिनमें बिजली ,सड़क और पानी की सुविधाएं आदि है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने इन मूलभूत सुविधाओं पर खासा ध्यान दिया है । भारत के लोगो को इन सारी  योजनाओं से काफी लाभ भी मिला है ऐसी ही एक महत्वपूर्ण योजना के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे है जिसे हम दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के नाम से  जानते है

लेख के मुख्य बिंदु

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना है क्या ( What is Deen Dayal upadhyay gram jyoti yojana or DDUGJY )

साल 2015 में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना का उद्घाटन पटना में किया था दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना भारत सरकार की योजना है जिसके अंतर्गत पूरे भारत के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर बिजली देने का प्रावधान है जब इस योजना की शुरुआत की गई थी तब इसका लक्ष्य था कि आने वाले एक हज़ार दिनों में भारत के सभी 18452 ग्रामीण क्षेत्रों में विधुतीकरण का कार्य पूरा किया जाएगा डिडियूजीजेवाई (DDUGJY) को एक दिए हुए तय समय सीमा के अंदर पूरा करना था जो कि 1 मई 2018   थी आपको बता दे कि भारत सरकार ने इस लक्ष्य को तय सीमा से पहले ही यानी 28 अप्रैल 2018 को ही पूरा कर लिया था ये योजना पूरी तरह से विधुत मंत्रालय के अंतर्गत आती है पहले हमारे देश के ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली बहुत कम रहती थी या बहुत से ऐसे भी ग्रामीण क्षेत्र भी  थे जहाँ बिजली पहुँच भी नहीं पायी थी  परंतु प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी  के नेतृत्व में इस योजना ने पूरे भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली उपलब्ध कराने का काम पूरा किया  है। आज भारत के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में  बिजली उपलब्ध है आपको बता दे कि दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना भारत सरकार के राजीव गांधी ग्रामीण विधुतीकरण योजना का पूर्ण निर्माण था राजीव गांधी ग्रामीण विधुतीकरण योजना के अंतर्गत किये गए असम्पूर्ण कार्यो को इस योजना के तहत पूरा किया गया है उस समय के तत्कालीन ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल जी ने दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना को शुरू करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी नवंबर 2014 में ही इस योजना की घोषणा कर दी गयी थी इस योजना का का आधार पूरी तरह से गाँव के सभी घरों में बिजली पहुचाने / खेती को बेहतर करने / मीटर लगाने / सब ट्रांसमिशन / विधुतीकरण के लिए पर्याप्त खाका तैयार करने के उपर है  जिससे कि ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले परिवारों को 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने में सहायता मिलेगी इसके साथ ही किसानों को कृषि के लिए पर्याप्त बिजली मुहैया कराने का भी लक्ष्य है  

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना का बजट कितना है ( Budget ammount for Deen Dayal upadhyay gram jyoti yojana / DDUGJY )

 भारत सरकार के इस योजना का कुल खर्च बजट 75893 करोड़ रुपये का है भारत के सभी राज्यों / केंद्र शाषित प्रदेशो में कुल 44416 करोड़  रूपयों के परियोजना को मंजूरी दे दी है आपको बता दे कि पूर्णतः घरेलू विधुतीकरण / अन्य विधुतीकरण ढाँचे के लिए अलग से 14270 करोड़ रुपये का आवंटन किया जा चुका है इस योजना के शुरू होने से लेकर नवंबर 2020 तक भारत सरकार ने कुल 48457 करोड़ रुपए जारी किए है 1 फरवरी 2022 को वित्त मंत्री के द्वारा प्रस्तुत बजट में  दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के लिए आने वाले वित्त वर्ष में 3600 करोड़ की राशी आवंटन की गई है इस योजना के अंतर्गत राज्यों के विधुत विभाग और डिस्कोम को वित्य सहायता दी जाती है   डिस्कोम का कार्य भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में विधुतीय ढांचे को पूर्णतः मजबूत करने के लिए नेटवर्क का निर्माण करना और परियोजना का सम्पूर्ण खाका बनाने का होता है भारत सरकार ने दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के आर्थिक और भौतिक कार्यप्रणाली की देख रेख के लिए एक नोडल (NODAL) एजेंसी भी बनाई है इस एजेंसी का कार्य उनके अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों में होने वाले खर्च और कार्य की प्रगति की  जानकारी केन्द्रीय विधुत मंत्रालय और केंद्र के विधुत प्राधिकरण  को हर महीने देनी होती है  

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के मुख्य तत्व कौन कौन से है ( Important things of Deen Dayal upadhyay gram jyoti yojana / DDUGJY ) 

  • इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों के लोगो को पूरी तरह से बिजली मुहैया करवाना
  • किसानों के खेती  एवं अन्य बिजली से चलने वाली मशीनों के लिए फीडरों को उपलब्ध करवाना
  • ग्रामीण क्षेत्रों में पर्याप्त मात्रा में बिजली मिल सके उसके लिए ट्रांसफार्मर/ बुनियादी ढांचे को उपलब्ध करना
  • पिछली सरकारों के द्वारों ग्रामीण इलाके में विधुतीकरण के असम्पूर्ण कार्यो को पूरा करना
  • भारत में उपस्थित सभी डिस्कोम को वित्य सहायता प्रदान करना
  • योजना के कार्य सही रूप और समय से चल रहे है इसकी बारिकी से  निगरानी करने के लिए ग्रामीण विधुत अभियंता को इसका भार सौपना
  • कार्य को समय सीमा में पूरा करने के लिए चरणबद्ध तरीके का उपयोग करना
  • प्रत्येक महीने कार्य की प्रगति / समीक्षा के लिए नियमित तौर पर बैठक करना
  • योजना के अंतर्गत लाभार्थी ग्रमीणों के नाम की सूची जारी करना
  • ऐसे ग्रामीण क्षेत्रों की पहचान करना जहाँ योजना के कार्य में विलंब हो रहा है और विलंब होने के कारणों का पता लगाना

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में नोडल संस्था की भूमिका क्या है ( What is the exact role of nodal agency in Deen Dayal upadhyay gram jyoti yojana / DDUGJY)

  • दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में नोडल विभाग (NODAL agency) की बहुत ही अहम भूमिका है विधुत मंत्रालय ने ग्रामीण विधुतीकरण निगम लिमिटेड की योजना का सम्पूर्ण कार्य भर नोडल संस्था को दिया है नोडल संस्था को इसके कार्य करने के लिए सरकार के तरफ से भुगतान भी किया जाता है ये भुगतान परियोजना के कुल लागत का 0.5 प्रतिशत तक होता है
  • जब कभी भी परियोजना के संदर्भ में हर नई दिशा निर्देश की जानकारी देना भी इनके कार्य में आते है
  • नोडल की ही संस्था होती है जो डीपीआर की जाँच करती है इसके जांच के बाद ही डीपीआर की रिपोर्ट को जांच समिति के सामने प्रस्तुत किया जाता है
  • डीपीआर की मंजूरी करने के लिए निगरानी समिति की बैठक का आयोजन करना नोडल संस्था का ही कार्य होता है।
  • इस परियोजना के अंतर्गत किये गए कार्य की गुणवत्ता की जाँच करना भी इस संस्था का कार्य होता है  
  • नोडल संस्था योजना के वित्य संबंधित होने वाले खर्च की भी निगरानी करता है

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना की कार्य विधि क्या है ( What is the framework of DDUGJY )

  • आपको बता दे कि इस योजना के लिए टेंडर प्रणली को अपनाया गया है जिस भी कंपनी के द्वारा सबसे ज्यादा बोली लगाई जाएगी,  कार्य उस कंपनी को आवंटित किया जाएगा । कार्य को सम्पूर्ण करने के लिए एक समय सीमा तय की जाती है ये अवधि अधिक्तम 24 महीने की होती है
  • इस योजना के तहत अनुदान के प्रावधान को दो भागों में बाट दिया गया है पहला सामान्य राज्य जहाँ 60 प्रतिशत और विशेष राज्यो के लिए 85 प्रतिशत अनुदान का प्रावधान है ये अनुदान दिए हुए समय में कार्य को पूरा करने पर सामान्य राज्यो के लिए 75 प्रतिशत और विशेष राज्यों के लिए 90 प्रतिशत तक दिया जाता है हिमाचल प्रदेश, सिक्किम, उत्तराखंड, जम्मूकश्मीर के साथ साथ सभी पूर्वोत्तर राज्यो को विशेष राज्य में शामिल किया गया है

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना की शर्तें क्या क्या है ( what are the Condition of Deen Dayal upadhyay gram jyoti yojana / DDUGJY )

  • इस योजना का लाभ वही लोग उठा सकते है जो पहले से ही सरकार की कोई अन्य  योजना का लाभ नहीं ले रहे हो जिनमें  एडीपीआरपी  / रजीजीविवाई / एनईएफ आदि आते है
  • उपभोक्ता का गरीबी रेखा से नीचे ( BPL) होना अनिवार्य है गरीबी रेखा से ऊपर के लोगो को सर्विस लाइन नहीं दी जाती है
  • बिजली के तारों / केबल के भूमिकरण के लिए इस योजना में प्रावधान नहीं है
  • सब स्टेशन के लिए लगनी वाली जमीन के क्रय का भुगतान नहीं दिया जाता है
  • कार्य के अंतर्गत आने वाले रास्तो पर होने वाले अधिकारों का मुआवजा नहीं दिया जाता है
  • विधुत कार्यालय में उपयोग किये जाने वाले उपकरण और अन्य पुर्जो के क्रय की राशी इसके अंतर्गत नहीं आते है
  • योजना के कार्यो में इस्तेमाल किये जाने वाले वाहन / वेतन का भुगतान / स्मार्ट मीटर / प्रीपेड मीटर को वंचित रखा गया है

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के क्या लाभ है ( Profit of Deen Dayal upadhyay gram jyoti yojana / DDUGJY)

अब हम आपको बताने वाले हैं कि दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के क्या क्या लाभ है

  • इस योजना के अंतर्गत  ग्रामीण क्षेत्रों के सभी घरों में विधुतीकरण और बिजली उपलब्ध कराया गया है  जिसके कारण  अंधेरे में रहने वाले गाँव के लोगो के जीवन में रोशनी भर गई है ग्रामीण क्षेत्रों के लोगो का जीवन बेहतर हुआ है  
  • ये आपको भी पता है कि अगर आपके पास अच्छे उपकरण है तो आपको खेती करने में बहुत सुविधा होती है साथ ही फसल की कटाई में भी मशीनों का उपयोग होता है और कोई भी मशीन या उपकरण को चलाने के लिए बिजली की जरूरत अवश्य पड़ती है इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली पहुंचने से किसानों के लिए खेती करने में बहुत सुविधा हुई है
  • ज्यादातर ग्रामीण क्षेत्रों में छोटे उद्योग चलते है पर्याप्त बिजली होने के कारण ऐसे उद्योग को चलाना मुश्किल हो रहा था इस योजना के शुरू होने के बाद ग्रामीण इलाकों में लघु उद्योगों को बचाया गया है।  इसके साथ ही साथ साथ नए उद्योगों को भी बढ़ावा  मिला है  जिसके कारण वहाँ के लोगो को रोजगार के अवसर भी मिले है मूल्यतः गाँव के लोगो का जीवन पहले की अपेक्षा बहुत ही बेहतर हो गया है
  • हम जानते है कि ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली के अभाव में अस्पताल / स्कूल / बैंक / सरकारी विभाग का संचालन नहीं होता है दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के आने से आज ग्रामीण क्षेत्रों में  अस्पताल खुल रहे है सरकारी और निजी बैंक अपनी शाखा शुरू कर रहे है एटीएम (ATM)  मशीन लग रहे है निजी स्कूल खुल रहे है पहले इन सुविधाओं के अभाव में गाँव के लोगों के पास शहर के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं था  लेकिन आज गाँव के लोग बच्चों को अच्छी शिक्षा अपने गाँव में ही  दिला पा रहे है उपचार के लिए अस्पताल भी उनके गाँव में ही उपलब्ध है बैंक खाते से पैसे की निकाशी भी गाँव के एटीएम / बैंक से आसानी से कर रहे है । ज़रा सोचिए कि ग्रामीण क्षेत्र के लोग  बिना बिजली के न जाने ऐसी कितनी सारी सुविधाओं से आज तक  वंचित थे  
  • मानव के जीवन में काम के साथ साथ मनोरंजन का भी अलग महत्व है आज के समय मनोरंजन के साधनों में टेलीविजन / रेडियो / मोबाइल फोन / इंटरनेट  का इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है आपको पता है ये सभी बिना बिजली के किसी भी काम के नहीं है पहले गाँव में बिजली के अभाव में ग्रामीण क्षेत्र के लोग इन सुविधाओं का लाभ नहीं उठा पाते थे  लेकिन जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में इस योजना को शुरू किया गया और गाँव के लोगो तक बिजली पहुँच रहा है मानो उनके जीवन में एक अलग बदलाव गया है अब गाँव के लोग भी घर बैठे  टेलीविजन का आनंद उठा रहे है इंटरनेट का इस्तेमाल भी गाँव के लोगों के द्वारा खूब हो रहा है वहीं मोबाइल के इस्तेमाल के लिए नेटवर्क होना जरूरी है और नेटवर्क आपको नजदीकी लगे सेल फोन टावर से मिलता है टावर चलाने के लिए भी बिजली की जरूरत होती है इस योजना के आने से गाँव में बिजली आपूर्ति की समस्या खत्म हुई है
  • हमने देखा है कि शहरी इलाको में पर्याप्त बिजली होने के कारण चोरी , डकैती जैसे अपराध कम होते है क्योंकि चोरडकैत , लुटेरे अपराध को अंजाम देने के लिए अंधेरे का सहारा लेते है ग्रामीण क्षेत्रों में पहले बिजली नहीं होने के कारण इस प्रकार के अपराध ज्यादा होते थे   दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत जब से ग्रामीण क्षेत्रों में पर्याप्त बिजली रहने लगी है तब से इस तरह के अपराध में बहुत कमी भी आई है
  • आज भारत डिजिटल इंडिया की ओर बढ़ रहा है लगभग हर  सरकारी काम आज ऑनलाइन किये जा रहे है  जिसके लिए कंप्यूटर या लैपटॉप की आवश्यकता होती है ये उपकरण  पर्याप्त बिजली के बिना नहीं चलाये जा सकते है लेकिन इस योजना के आने से सभी सरकारी दफ्तरों में प्रयाप्त बिजली रहने से ऑनलाइन काम करने में सुविधा मिली है  जैसे कि ग्राम पंचायत / पुलिस स्टेशन के लगभग सभी कार्य सरकार ने ऑनलाइन करने की सुविधा दे दी है
  • आखिर किसी भी शहर का विकास तभी होता है जब वहाँ पर्याप्त मात्रा में बिजली उपलब्ध हो जैसे कोई भी कल कारखाना चलाना हो , रोग की जाँच करने के लिए जाँच सेंटर लगाना हो , मॉल चालू करना हो आदि तभी संभव है जब आपके पास पर्याप्त बिजली उपलब्ध हो इस योजना के आने से धीरेधीरे ग्रामीण क्षेत्रों में भी ये सुविधाएं रही है जिसके कारण गाँव का और गाँव के लोगो का विकास हो रहा है  

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना की जानकारी अगर देखना हो तो क्या करें ( How to check information for Deen Dayal upadhyay gram jyoti yojana / DDUGJY )

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि भारत सरकार ने एक एप भी जारी किया है 2015 में जारी किए गए गर्व ऐप में 18452 गांवो की ही जानकारी उपलब्ध थी ये वो गाँव थे जिनका विधुतीकरण नहीं हुआ था इसके बाद इस ऐप को दोबारा शुरू किया गया , जिसका नाम गर्व  दिया गया है इस एप के जरिये आप भारत के सभी  15 लाख से ज्यादा आबादी वाले,  6 लाख गाँव के 17 करोड़ लोगों के डेटा की जानकारी देख सकते हैं इस एप के जरिये इस योजना के अंतर्गत हो रहे कार्य में पारदर्शिता बनी रहेगी आम नागरिक भी इस ऐप के माध्यम से दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में भाग ले सकते है साथ ही वो अपनी सोच साझा कर सकते है आम नागरिक के सामने पूरी जानकारी रहने से इस योजना के तहत किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार  होने की संभावना बहुत ही कम होती है इस ऐप के जरिये आप कार्य की प्रगति को भी आसानी से जाँच कर सकते है इस ऐप में केंद्र सरकार के द्वारा राज्य को इस योजना के तहत दी जाने वाली राशी का भी विवरण उपलब्ध रहता है भारत सरकार ने दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के लिए एक आधिकारिक वेबसाइट  www.ddugjy.gov.in www.ddugjy.gov.in भी जारी की है जहाँ आपको योजना से सम्बंधित पूरी जानकारी उपलब्ध कराई गई है  

 इसके अलाव सरकार के द्वारा कार्य स्थल पर बोर्ड के माध्यम से भी जानकारी देने का काम किया गया है इस बोर्ड पर सरकार के द्वारा कार्य को पूरा करने के लिए दी गयी धनराशि / कार्य को पूरा करने का ठेका किसे दिया गया है / कार्य कितने दिनों में पूरा किया जायेगा ये सभी शामिल रहेंगे इस प्रकार की जानकारी खास कर उन क्षेत्रों के लिए है जहाँ इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध नहीं है

28 अप्रैल 2018 को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी  ने twitter के माध्यम से इस बात की जानकारी दी थी कि मणिपुर के एक गाँव लिसांग में भी विधुतीकरण का कार्य पूर्ण हो गया है उन्होंने ये भी बताया कि भारत के विकास में आज का दिन ऐतिहासिक है जब भारत के सभी गाँव में विधुतीकरण का कार्य सम्पूर्ण हुआ है इस तरह हमने आपको आज बताया कि दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के आने से ग्रामीण क्षेत्रों के लोगो को क्या लाभ हुआ है और कैसे उनके जीवन में बदलाव हो रहा है

Read more on Wikipedia Deen Dayal upadhyay gram jyoti

Official website link : Deen Dayal Gyam Jyoti Yojana

Leave a Comment

error: Content is protected !!